SEO क्या है तथा SEO काम कैसे करता है? | What Is SEO In Hindi?

SEO क्या है तथा SEO काम कैसे करता है? | What Is SEO In Hindi?

आप सभी का मेरे ब्लॉग PRAVESHKUMARITHUB स्वागत है। आज के इस आर्टिकल में हम SEO के बारे में विस्तार से जानेंगे। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि SEO क्या होता है (SEO Kya Hai) तथा SEO कैसे करें (SEO Kaise Kare)। इससे सम्बंधित सभी पॉइंट्स के बारे में विस्तार से जानेंगे। अतः यदि आप इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो इस लेख को पूरा ध्यान से जरुर पढ़ें। 


SEO Kya Hai
SEO Kya Hai

👉 सबसे पहला प्रश्न यह आता है कि किस Experience से मैं आपको SEO के बारे में बेहतर जानकारी दूँगा। इस आर्टिकल की शुरुआत करने से पहले मैं आप सभी को बताना चाहता हूँ कि मैं पिछले छः सालों से SEO सीख रहा हूँ तथा कई कंपनियों की वेबसाइटों के लिए SEO करके उनके कीवर्ड को गूगल के पहले पेज पर रैंक करा चुका हूँ। मैं अपने पिछले छह सालों के Experience से आपको इसके बारे में बेहतर जानकारी दूँगा जिससे कि आपके मन में  SEO के बारे में और कोई भ्रम न रहे तथा आप भी अपने ब्लॉग या वेबसाइट का एसइओ आसानी से कर सकें।  


सभी ब्लॉगर अथवा वेबसाइट के Owner यदि अपना ब्लॉग अथवा वेबसाइट बनाते हैं तो उनका मुख्यतः एक ही उद्देश्य होता है कि उनके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा लोग विजिट करें तथा इससे उनकी कमाई हो सके। 


किसी भी ब्लॉग अथवा वेबसाइट के लिए ट्रैफिक बहुत ही जरुरी चीज है। क्योंकि वेबसाइट अथवा ब्लॉग पर जितना ज्यादा ट्रैफिक होगा वेबसाइट ओनर इससे उतनी ही अच्छी कमाई कर पाएंगे।   


👉 लेकिन सबसे बड़ा प्रश्न आता है कि ट्रैफिक आएगा कहाँ से ?  


जी हाँ, आप सही सोच रहे हैं। ट्रैफिक हमें सर्च इंजन से आएगा। अधिकतर लोग अपने सभी प्रश्नों का उत्तर ढूढ़ने के लिए सर्च इंजन का ही  इस्तेमाल करते हैं। लगभग 90% लोग आपने सभी प्रकार के प्रश्नों का जवाब ढूढ़ने के लिए इसका प्रयोग करते हैं। 


👉 जिसमें सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन गूगल ही है। गूगल दुनिया के सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाने वाले सर्च इंजनों में से एक है।  


जरा सोचिये ! जब आप अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर कोई आर्टिकल Publish करते हैं तथा आपका आर्टिकल गूगल के पहले Position पर आता है। यदि कोई व्यक्ति आपके द्वारा लिखे गए ब्लॉग से सम्बंधित कोई Query गूगल में सर्च करता है और आपके वेबसाइट का लिंक आता है और यूजर आपके वेबसाइट अथवा ब्लॉग को ओपन करता है। 


👉 तो इससे आपके ब्लॉग पर भर-भर कर ट्रैफिक आएगा तथा आप अपने ब्लॉग से काफी ज्यादा कमाई कर पाएंगे। 


परन्तु यह इतना भी आसान नहीं है तथा इसके लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है। कभी-कभी किसी एक कीवर्ड को गूगल के पहले Position पर ले जाने के लिए सालों लग जाते हैं। लेकिन आपके कीवर्ड किसी भी सर्च  इंजन में रैंक कराने के लिए ही SEO का प्रयोग किया जाता है। 


चलिए अब जानते हैं SEO के बारे में ,


एसइओ क्या है (SEO Kya Hai)

SEO Definition In Hindi : एस.इ.ओ. एक प्रकार की Technique है जिसकी सहायता से हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट को अच्छे से ऑप्टिमाइज़ करके सभी कीवर्ड्स को गूगल के पहले पेज अथवा पहले Position पर रैंक कर सकते हैं।  


जिससे की हमारे ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर High Quality का Organic ट्रैफिक मिल सके। 


एसइओ का पूरा नाम (SEO Full Form In Hindi)

इसके बारे में और अधिक जानने से पहले हमें पता तो होना चाहिए कि एसइओ का पूरा नाम क्या है ? आईये जानते हैं : 
S : Search (सर्च)
⏩ E : Engine (इंजन)
⏩ O : Optimization (ऑप्टिमाइजेशन)

👉 "SEO का पूरा नाम सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) है।"

SERP क्या है (What Is SERP In Hindi)

क्या आपने कभी किसी भी सर्च इंजन में कुछ सर्च किया है। यदि हाँ, तो आपने देखा ही होगा कि जब आप सर्च इंजन में कुछ भी query सर्च करते हैं, तो आपको उस Query से Related काफी सारे रिजल्ट दिखाई देते है। जैसा कि आप नीचे दिए गए चित्र में देख सकते हैं। इसे ही SEO की भाषा में एसइआरपी (SERP) कहते हैं। 

SERP का पूरा नाम (Full Form Of SERP In Hindi)

आइये जानते हैं कि SERP का पूरा नाम क्या है :
⏩ S : Search (सर्च)
⏩ E : Engine (इंजन)
: Result (रिजल्ट) 
P  : Pages (पेजेज)

👉 "SERP का पूरा नाम सर्च इंजन रिजल्ट पेजेज (Search Engine Result Pages) है।"

सर्च इंजन क्या है (Search Engine Kya Hai)

सर्च इंजन एक प्रकार का सॉफ्टवेयर अथवा प्रोग्राम होता है। जिसे हम इंटरनेट की सहायता से एक्सेस कर पाते हैं।
इंटरनेट पर सभी प्रकार की जानकारियाँ WWW (World Wide Web) पर Store होती हैं। 

जब कभी भी हम कोई भी प्रश्न किसी सर्च इंजन में कीवर्ड्स की मदद से ढूँढ़ते हैं, तो सर्च इंजन वर्ल्ड वाइड वेब पर मौजूद सभी प्रकार की जानकारियों को निकालकर आप तक पहुँचाने में मदद करता है।  

👉 गूगल दुनिया का सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला सर्च इंजन है। 

सर्च इंजन काम कैसे करता है (How Search Engine Works In Hindi)

जैसा कि ऊपर हमनें जाना कि सर्च इंजन वर्ल्ड वाइड वेब से सभी प्रकार की जानकारियाँ निकालकर हम तक पहुँचाता है। परन्तु जो भी जानकारियाँ हमें इतनी आसानी से मिल जाती हैं, उसे सर्च इंजन मुख्यतः तीन तरीकों से प्रोसेस करने के बाद ही हम तक पहुँचाता है। जोकि निम्नलिखित हैं :

  1. क्रॉलिंग (Crawling)
  2. इंडेक्सिंग (Indexing)
  3. रैंकिंग (Ranking)
आईये इनके बारे में विस्तार से जानते हैं :

⏩ क्रॉलिंग क्या है (What Is Crawling In SEO In Hindi)

Crawling का आसान सा मतलब ढूढ़ने से है। क्रॉलिंग के अंतर्गत हमारे वेबसाइट पर मौजूद सभी प्रकार की जानकारियाँ जैसे : वेबसाइट की डिज़ाइन, वेबसाइट पर मौजूद Text, Images, Keywords वेबसाइट पर कहाँ-कहाँ से लिंक्स आ रहे हैं आदि बहुत सारी बातों को ध्यान में रखकर हमारी वेबसाइट को स्कैन किया जाता है। इसी प्रक्रिया को ही क्रॉलिंग कहते हैं। 

क्रॉलिंग के दौरान सिर्फ हमारी वेबसाइट को ही स्कैन नहीं किया जाता है, बल्कि इंटरनेट पर मौजूद सभी वेबसाइटों को क्रॉल किया जाता है।  

⏩ इंडेक्सिंग क्या है?(What Is Indexing In Hindi)  

क्रॉलिंग के दौरान बहुत सारी Websites को स्कैन किया जाता है। इसके बाद जो भी बेहतर जानकारियाँ होती हैं, उनमें से जो भी वेबसाइट का कंटेंट सर्च इंजन के Rules को ध्यान में रखकर बनाया गया होता है, उन्हें ही Index करने के लिए भेज दिया जाता है, इसे ही हम Indexing कहते हैं। 

⏩ रैंकिंग क्या है?(What Is Ranking In Hindi) 

ये किसी भी सर्च इंजन का आखिरी प्रक्रिया है। सभी सर्च इंजन के अपने कुछ शर्तें या कहें तो रैंकिंग फैक्टर्स होते हैं। इसीलिए जिस किसी भी वेबसाइट के कंटेंट सर्च इंजन के रैंकिंग फैक्टर को अच्छे फॉलो करते हैं। उन्हें ही सर्च इंजन में सबसे आगे दिखाया जाता है। जिससे की सर्च इंजन अपने यूजर को अच्छी क्वालिटी की जानकारी पहुँचा सके। 

SEO क्यों जरुरी है? (SEO Kyu Jaruri Hai)

एसइओ क्यों जरुरी है इसको हम इस प्रकार से समझते हैं कि यदि हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर चाहे जितने अच्छी क्वालिटी का content पब्लिश कर लें। वह तब तक गूगल अथवा किसी भी सर्च इंजन में रैंक नहीं करेगा जब तक कि हम उस आर्टिकल का SEO अच्छे से नहीं करते हैं। 

इसका मतलब ये है कि हम चाहे जितना High Quality Content क्यों न लिख लें लेकिन हमारा ब्लॉग बिना SEO करे सर्च इंजन में ऊपर नहीं आएगा और जब तक वह सर्च इंजन में अच्छी रैंकिंग में नहीं आएगा तब तक हमारे ब्लॉग पर ट्रैफिक भी नहीं आएगा। 

बिना ट्रैफिक कितना ही अच्छा Content क्यों न लिख लें, उसका कोई भी मतलब नहीं है। 

👉इसीलिए हमें अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर हाई क्वालिटी का आर्गेनिक ट्रैफिक लाने के लिए सही तरीके से SEO करना बहुत ही जरुरी होता है। 

एस.इ.ओ. कितने प्रकार के होते हैं? (Types Of SEO In Hindi)

सभी लोगों में यही प्रश्न रहता है कि SEO क्या है (SEO Kya Hai) और यह कितने प्रकार का होता है। मुख्य रूप से SEO दो प्रकार के होते हैं तथा इन दोनों प्रकार के SEO का काम बिल्कुल अलग-अलग होता है। आईए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं :

  1. ऑन पेज एस.इ.ओ. (On Page SEO)
  2. ऑफ पेज एस.इ.ओ. (Off Page SEO)  

⏩ 1. On Page SEO क्या है? (What Is On Page SEO In Hindi)

On Page SEO Kya Hai: ऑन पेज एस.इ.ओ. के अंतर्गत हम जो भी ऑप्टिमाइजेशन अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट को SEO Friendly बनाने के लिए करते हैं, उसे ही हम ऑन पेज ऑप्टिमाइजेशन कहते हैं। जैसे कि : वेबसाइट की डिज़ाइन, Title Tag, Meta Description, High Quality Content तथा जरुरी कीवर्ड्स आदि बहुत सारी चीजें हैं, जोकि On Page SEO के अंतर्गत आती हैं। 

आईये अब हम विस्तार से ऑन पेज एस.इ.ओ. के अंतर्गत आने वाली Techniques के बारे में विस्तार से जानते हैं :
  1. Website Design
  2. Website Navigation
  3. Website Favicon
  4. Mobile-Friendly Website
  5. Website Speed
  6. Content 
  7. Keyword Density
  8. Title Tag
  9. Meta Description
  10. Heading
  11. Image Alt Tag
  12. Post URL
  13. Internal Linking 
  14. External Linking
  15. Robots.txt 


⏩ 2. Off Page SEO क्या है? (What Is Off Page SEO In Hindi)

Off Page SEO Kya Hai: इस Off Page SEO Technique के अंतर्गत हम कोई ऑप्टिमाइजेशन अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर न करके किसी दूसरी वेबसाइट पर करते हैं। जिसे हम अपने ब्लॉग का Promotion भी कह सकते हैं। इसमें हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट की लिंक किसी दूसरे वेबसाइट जोकि हमारे ब्लॉग से रिलेटेड हो उस पर डालते हैं। इसे बैकलिंक बनाना भी कहते हैं। 

शुरुआत में जब हमारा ब्लॉग सर्च इंजन में रैंक नहीं करता है, तो बैकलिंक्स शुरू में हमारे ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर ट्रैफिक भेजने का भी काम करती हैं। 

आईये हम Off Page SEO की कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण Techniques के बारे में विस्तार से जानते हैं, जोकि आपके ब्लॉग के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती हैं। 
  1. Profile Creation 
  2. Social Bookmarking
  3. Web 2.0 Submission
  4. Micro Blogging 
  5. Business Listing 
  6. Classifieds Submission
  7. Forum Submission
  8. Question And Answer Submission 
  9. Search Engine Submission
  10. Blog Directory Submission
  11. Blog Commenting 
  12. Guest Posting 
  13. Article Submission


SEO के फायदे (Benefits Of SEO In Hindi)

जब हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट का अच्छे से SEO करते हैं, तो इससे हमें बहुत सारे फायदे मिलते हैं। अधिकतर समय देखा गया है कि ज्यादातर यूजर Top 5 रिजल्ट्स पर ही ज्यादा क्लिक करते हैं। बहुत ही कम टाइम ऐसा होता है कि उसे दूसरे अथवा तीसरे पेज पर जाये। 

इसीलिए यदि आप SEO के सभी नियमों को अच्छे से Follow करते हैं, तो आपको बहुत से फायदे मिलते हैं। जोकि निम्नलिखित हैं : 

👉  Search Engine Optimization (SEO) से वेबसाइट अथवा ब्लॉग की रैंकिंग बढ़ती है। 
👉 इससे हमारे ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर High Quality का Organic ट्रैफिक बढ़ता है। 
👉 हम जितना ही SEO Optimized Content लिखते हैं, उससे Users को पढ़ने में आसानी होती है। 
👉 अच्छी SEO प्रैक्टिस से सर्च इंजन के क्रॉलर्स को भी हमारे वेबसाइट के कंटेंट को समझने में आसानी होती है।
👉 यदि आप अपने Competitor से आगे निकलना चाहते हैं और उसका और तुम्हारा Niche एक ही है, तो आप अच्छी SEO प्रैक्टिस से उसे भी पीछे कर सकते हैं।   

👉 क्या आप जानना चाहते हैं कि ब्लॉग्गिंग से पैसे कैसे कमाएं ?

निष्कर्ष : इस आर्टिकल में हमनें SEO क्या है (What Is SEO In Hindi) और SEO कैसे करते हैं। इससे Related सभी पॉइंट्स के बारे में विस्तार से जाना। हमें आशा है कि आपको इसे पढ़कर काफी कुछ जानने को मिला होगा। 

यदि आपको इसमें कोई कमी नजर आती है, तो आप हमें कमेंट करके जरुर बताएं। 

🙏 धन्यवाद 🙏