शुक्रवार, 18 सितंबर 2020

How To Create Do-follow Backlinks In Hindi?

How To Create Do-follow Backlinks In Hindi ? (Do-Follow बैकलिंक कैसे बनायें ) 

यदि हमें अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर Google Search Engine (मतलब Organic ट्रैफ़िक) लाना है तो तो हमें अपने Blog या Website का SEO (Search Engine Optimization) करना पड़ता है। जिसको करने के लिए हमें काफी सारे Factors को देखना पड़ता है। जिसे हम On Page Optimization और Off Page Optimization कहते हैं। 

Do Follow Backlinks Kaise Banaye
Do Follow Backlinks Kaise Banaye

यदि आप सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन के बारे में ज्यादा जानना चाहते हैं तो Visit करें SEO Kya Hota Hai

यदि आप इसके बारे में विस्तार से पढ़ना चाहते हैं तो आप What Is On Page Optimization In Hindi पर Click करके पढ़ सकते हैं। 

हमारे Blog और Website को रैंक कराने के लिए जितना ही On Page Optimization ठीक उतना ही Off Page Optimization भी जरुरी होता है। हमें सिर्फ और सिर्फ एक ही Technique पर Focus नहीं करना। हमे दोनो ही Optimization Techniques को पूरी तरह से Apply करना पड़ता है। 

Off Page Optimization Kya Hai 

Off Page Optimization Techniques की मदद से हम अपने Blog या Website के लिए Backlinks बनाते हैं। 

Backlink Kya Hai (बैकलिंक क्या है) ? 

जब हम अपने Website या Blog के url (जैसे "https://www.praveshkumarithub.com/") को किसी दूसरे वेबसाइट या ब्लॉग पर लगाते हैं तो इस प्रकार की लिंक को बैकलिंक कहते हैं। 

अगर हम बैकलिंक को साधारण शब्दों में समझना चाहें तो जैसे आपने अपना कोई Business Offline Market में शुरू करते हैं तो उस समय लोगों को आपके Business के बारे में कोई जानकारी नहीं होती है तो आप अपने बिज़नेस को Promote करने के लिए आप News Paper में Ads देते हैं। जगह - २ बैनर लगवाते हैं। आप अपने बिज़नेस के बारे में लोगों बताने के लिए बहुत मेहनत करते हैं और जब लोगों को आपके बिज़नेस के बारे लोगों को पता चलता है तो आपका बिज़नेस Grow करने लगता है। 

ठीक इसी प्रकार ऑनलाइन की दुनिया में जब हम अपना Blog बनाते हैं तो लोगों को इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं होती तो हम दूसरे Blogs या Websites पर अपनी वेबसाइट का लिंक Promote करते हैं तो लोग उस URL (Backlink) के द्वारा आपके ब्लॉग पर आने लग जाते हैं। धीरे -२ Google को भी दिखता है कि आपके Blog या Website का यूआरएल काफी सारी websites पर है तो वे भी आपके Content को Promote करते हैं। जिससे आपके ब्लॉग की रैंकिंग बढ़ने लगती है। आपके ब्लॉग जितने अच्छे रैंक कर रहे होते हैं आपके ब्लॉग  काफी ज्यादा ट्रैफिक भी आने लगता है। 

अभी तक हमने जाना कि Backlink Kya Hai (बैकलिंक क्या है)?

अब जानते हैं कि बैकलिंक कितने प्रकार की होती है और बैकलिंक बनाते कैसे हैं (Backlink Kaise Banaye)?

 Types Of Backlink (बैकलिंक कितने प्रकार की होती है) :  बैकलिंक मुख्यतः दो प्रकार की होती है। जो निम्नलिखित हैं। 

  1. Do-Follow Backlinks 
  2. No-Follow Backlinks 

Do-Follow Backlink Kya Hai (Do-Follow बैकलिंक क्या है) : जो बैकलिंक यूजर और crawler दोनों के Perspective को देखकर बनाये जाते हैं, उन्हें Do-Follow Backlink कहते हैं। 

जैसे -   <a href="https://www.praveshkumarithub.com/2020/03/how-to-earn-money-online-with-google-in-hindi.html">  How To Earn Money Online With Google In Hindi </a>

No-Follow Backlink kya hai (No-Follow बैकलिंक क्या है) : जब हम कोई बैकलिंक बनाते हैं तो यदि हमारे बैकलिंक को User क्लिक करके Open कर सकता है लेकिन क्रॉलर (Crawler) उस लिंक को क्रॉल नहीं कर सकता उस लिंक को हम No-Follow Backlink कहते  हैं। 

Note : 

१. जब भी आप किसी वेबसाइट से बैकलिंक ले रहे हों तो ध्यान रखें कि उस वेबसाइट का DA (Domain Authority) और PA (Page Authority) ज्यादा होना चाहिए। 

२. एक बात का विशेष ध्यान रखें कि उस वेबसाइट को Spam Score कम से कम हो। 20 - 30 स्पैम स्कोर वाली वेबसाइट से आप बैकलिंक ले सकते हैं। लेकिन यदि आपको इससे कम स्पैम स्कोर वाली वेबसाइट मिले तो उनपर ही बैकलिंक बनाये। 

यदि आपको नहीं पता कि DA, PA और Spam Score चेक कैसे करते हैं तो आप What Is Moz Extension In Hindi पर जाकर विस्तार से पढ़ सकते हैं।

High Quality Do-Follow Backlink बनाने के तरीके --

यदि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग के लिए High Quality Do-Follow Backlink बनाना चाहते हैं तो आपको इसके Related इंटरनेट पर काफी सारी जानकारी मिल सकती है।

लेकिन इस पोस्ट में आपको कुछ Simple तरीकों से बैकलिंक बनाने के बारे में बताउँगा। 

यदि आप अभी ब्लॉग्गिंग इंडस्ट्री में नए हैं तो आपको पहले कुछ सरल तरीकों से बैकलिंक बनाने के बारे में जानना चाहिए। फिर इसके बाद आप कुछ Paid तरीकों से बैकलिंक बनाने के बारे में सोचें। जो कि निम्नलिखित हैं -

  1. Profile Creation 
  2. Social Bookmarking
  3. Web 2.0 Submission
  4. Micro Blogging 
  5. Business Listing 
  6. Classifieds Submission
  7. Forum Submission
  8. QnA Site 
  9. Blog Commenting 

फिर यदि आप इस प्रकार के बैकलिंक्स को अच्छे से बना ले और आपके ब्लॉग या वेबसाइट से कुछ पैसे आने लगे तो फिर उसके बाद आप नीचे दिए गए बैकलिंक्स बनाए। 

  1. Guest Posting 
  2. Article Submission


0 टिप्पणियाँ: