Featured Post

Featured

Blogging Se Paise Kaise Kamaye in 2021?

ब्लॉग्गिंग क्या है और इससे पैसे कैसे कमायें ?  स्वागत है दोस्तों आपका मेरे ब्लॉग www.praveshkumarithub.com पर स्वागत है इस पोस्ट की मदद से ...

SEO क्या है तथा SEO काम कैसे करता है? | What Is SEO In Hindi?

SEO क्या है तथा SEO काम कैसे करता है? | What Is SEO In Hindi?

आप सभी का मेरे ब्लॉग PRAVESHKUMARITHUB स्वागत है। आज के इस आर्टिकल में हम SEO के बारे में विस्तार से जानेंगे। इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि SEO क्या होता है (SEO Kya Hai) तथा SEO कैसे करें (SEO Kaise Kare)। इससे सम्बंधित सभी पॉइंट्स के बारे में विस्तार से जानेंगे। अतः यदि आप इसके बारे में जानना चाहते हैं, तो इस लेख को पूरा ध्यान से जरुर पढ़ें। 


SEO Kya Hai
SEO Kya Hai

👉 सबसे पहला प्रश्न यह आता है कि किस Experience से मैं आपको SEO के बारे में बेहतर जानकारी दूँगा। इस आर्टिकल की शुरुआत करने से पहले मैं आप सभी को बताना चाहता हूँ कि मैं पिछले छः सालों से SEO सीख रहा हूँ तथा कई कंपनियों की वेबसाइटों के लिए SEO करके उनके कीवर्ड को गूगल के पहले पेज पर रैंक करा चुका हूँ। मैं अपने पिछले छह सालों के Experience से आपको इसके बारे में बेहतर जानकारी दूँगा जिससे कि आपके मन में  SEO के बारे में और कोई भ्रम न रहे तथा आप भी अपने ब्लॉग या वेबसाइट का एसइओ आसानी से कर सकें।  


सभी ब्लॉगर अथवा वेबसाइट के Owner यदि अपना ब्लॉग अथवा वेबसाइट बनाते हैं तो उनका मुख्यतः एक ही उद्देश्य होता है कि उनके ब्लॉग पर ज्यादा से ज्यादा लोग विजिट करें तथा इससे उनकी कमाई हो सके। 


किसी भी ब्लॉग अथवा वेबसाइट के लिए ट्रैफिक बहुत ही जरुरी चीज है। क्योंकि वेबसाइट अथवा ब्लॉग पर जितना ज्यादा ट्रैफिक होगा वेबसाइट ओनर इससे उतनी ही अच्छी कमाई कर पाएंगे।   


👉 लेकिन सबसे बड़ा प्रश्न आता है कि ट्रैफिक आएगा कहाँ से ?  


जी हाँ, आप सही सोच रहे हैं। ट्रैफिक हमें सर्च इंजन से आएगा। अधिकतर लोग अपने सभी प्रश्नों का उत्तर ढूढ़ने के लिए सर्च इंजन का ही  इस्तेमाल करते हैं। लगभग 90% लोग आपने सभी प्रकार के प्रश्नों का जवाब ढूढ़ने के लिए इसका प्रयोग करते हैं। 


👉 जिसमें सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन गूगल ही है। गूगल दुनिया के सबसे ज्यादा प्रयोग किये जाने वाले सर्च इंजनों में से एक है।  


जरा सोचिये ! जब आप अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर कोई आर्टिकल Publish करते हैं तथा आपका आर्टिकल गूगल के पहले Position पर आता है। यदि कोई व्यक्ति आपके द्वारा लिखे गए ब्लॉग से सम्बंधित कोई Query गूगल में सर्च करता है और आपके वेबसाइट का लिंक आता है और यूजर आपके वेबसाइट अथवा ब्लॉग को ओपन करता है। 


👉 तो इससे आपके ब्लॉग पर भर-भर कर ट्रैफिक आएगा तथा आप अपने ब्लॉग से काफी ज्यादा कमाई कर पाएंगे। 


परन्तु यह इतना भी आसान नहीं है तथा इसके लिए आपको बहुत मेहनत करनी पड़ती है। कभी-कभी किसी एक कीवर्ड को गूगल के पहले Position पर ले जाने के लिए सालों लग जाते हैं। लेकिन आपके कीवर्ड किसी भी सर्च  इंजन में रैंक कराने के लिए ही SEO का प्रयोग किया जाता है। 


चलिए अब जानते हैं SEO के बारे में ,


एसइओ क्या है (SEO Kya Hai)

SEO Definition In Hindi : एस.इ.ओ. एक प्रकार की Technique है जिसकी सहायता से हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट को अच्छे से ऑप्टिमाइज़ करके सभी कीवर्ड्स को गूगल के पहले पेज अथवा पहले Position पर रैंक कर सकते हैं।  


जिससे की हमारे ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर High Quality का Organic ट्रैफिक मिल सके। 


एसइओ का पूरा नाम (SEO Full Form In Hindi)

इसके बारे में और अधिक जानने से पहले हमें पता तो होना चाहिए कि एसइओ का पूरा नाम क्या है ? आईये जानते हैं : 
S : Search (सर्च)
⏩ E : Engine (इंजन)
⏩ O : Optimization (ऑप्टिमाइजेशन)

👉 "SEO का पूरा नाम सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) है।"

SERP क्या है (What Is SERP In Hindi)

क्या आपने कभी किसी भी सर्च इंजन में कुछ सर्च किया है। यदि हाँ, तो आपने देखा ही होगा कि जब आप सर्च इंजन में कुछ भी query सर्च करते हैं, तो आपको उस Query से Related काफी सारे रिजल्ट दिखाई देते है। जैसा कि आप नीचे दिए गए चित्र में देख सकते हैं। इसे ही SEO की भाषा में एसइआरपी (SERP) कहते हैं। 

SERP का पूरा नाम (Full Form Of SERP In Hindi)

आइये जानते हैं कि SERP का पूरा नाम क्या है :
⏩ S : Search (सर्च)
⏩ E : Engine (इंजन)
: Result (रिजल्ट) 
P  : Pages (पेजेज)

👉 "SERP का पूरा नाम सर्च इंजन रिजल्ट पेजेज (Search Engine Result Pages) है।"

सर्च इंजन क्या है (Search Engine Kya Hai)

सर्च इंजन एक प्रकार का सॉफ्टवेयर अथवा प्रोग्राम होता है। जिसे हम इंटरनेट की सहायता से एक्सेस कर पाते हैं।
इंटरनेट पर सभी प्रकार की जानकारियाँ WWW (World Wide Web) पर Store होती हैं। 

जब कभी भी हम कोई भी प्रश्न किसी सर्च इंजन में कीवर्ड्स की मदद से ढूँढ़ते हैं, तो सर्च इंजन वर्ल्ड वाइड वेब पर मौजूद सभी प्रकार की जानकारियों को निकालकर आप तक पहुँचाने में मदद करता है।  

👉 गूगल दुनिया का सबसे ज्यादा प्रयोग किया जाने वाला सर्च इंजन है। 

सर्च इंजन काम कैसे करता है (How Search Engine Works In Hindi)

जैसा कि ऊपर हमनें जाना कि सर्च इंजन वर्ल्ड वाइड वेब से सभी प्रकार की जानकारियाँ निकालकर हम तक पहुँचाता है। परन्तु जो भी जानकारियाँ हमें इतनी आसानी से मिल जाती हैं, उसे सर्च इंजन मुख्यतः तीन तरीकों से प्रोसेस करने के बाद ही हम तक पहुँचाता है। जोकि निम्नलिखित हैं :

  1. क्रॉलिंग (Crawling)
  2. इंडेक्सिंग (Indexing)
  3. रैंकिंग (Ranking)
आईये इनके बारे में विस्तार से जानते हैं :

⏩ क्रॉलिंग क्या है (What Is Crawling In SEO In Hindi)

Crawling का आसान सा मतलब ढूढ़ने से है। क्रॉलिंग के अंतर्गत हमारे वेबसाइट पर मौजूद सभी प्रकार की जानकारियाँ जैसे : वेबसाइट की डिज़ाइन, वेबसाइट पर मौजूद Text, Images, Keywords वेबसाइट पर कहाँ-कहाँ से लिंक्स आ रहे हैं आदि बहुत सारी बातों को ध्यान में रखकर हमारी वेबसाइट को स्कैन किया जाता है। इसी प्रक्रिया को ही क्रॉलिंग कहते हैं। 

क्रॉलिंग के दौरान सिर्फ हमारी वेबसाइट को ही स्कैन नहीं किया जाता है, बल्कि इंटरनेट पर मौजूद सभी वेबसाइटों को क्रॉल किया जाता है।  

⏩ इंडेक्सिंग क्या है?(What Is Indexing In Hindi)  

क्रॉलिंग के दौरान बहुत सारी Websites को स्कैन किया जाता है। इसके बाद जो भी बेहतर जानकारियाँ होती हैं, उनमें से जो भी वेबसाइट का कंटेंट सर्च इंजन के Rules को ध्यान में रखकर बनाया गया होता है, उन्हें ही Index करने के लिए भेज दिया जाता है, इसे ही हम Indexing कहते हैं। 

⏩ रैंकिंग क्या है?(What Is Ranking In Hindi) 

ये किसी भी सर्च इंजन का आखिरी प्रक्रिया है। सभी सर्च इंजन के अपने कुछ शर्तें या कहें तो रैंकिंग फैक्टर्स होते हैं। इसीलिए जिस किसी भी वेबसाइट के कंटेंट सर्च इंजन के रैंकिंग फैक्टर को अच्छे फॉलो करते हैं। उन्हें ही सर्च इंजन में सबसे आगे दिखाया जाता है। जिससे की सर्च इंजन अपने यूजर को अच्छी क्वालिटी की जानकारी पहुँचा सके। 

SEO क्यों जरुरी है? (SEO Kyu Jaruri Hai)

एसइओ क्यों जरुरी है इसको हम इस प्रकार से समझते हैं कि यदि हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर चाहे जितने अच्छी क्वालिटी का content पब्लिश कर लें। वह तब तक गूगल अथवा किसी भी सर्च इंजन में रैंक नहीं करेगा जब तक कि हम उस आर्टिकल का SEO अच्छे से नहीं करते हैं। 

इसका मतलब ये है कि हम चाहे जितना High Quality Content क्यों न लिख लें लेकिन हमारा ब्लॉग बिना SEO करे सर्च इंजन में ऊपर नहीं आएगा और जब तक वह सर्च इंजन में अच्छी रैंकिंग में नहीं आएगा तब तक हमारे ब्लॉग पर ट्रैफिक भी नहीं आएगा। 

बिना ट्रैफिक कितना ही अच्छा Content क्यों न लिख लें, उसका कोई भी मतलब नहीं है। 

👉इसीलिए हमें अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर हाई क्वालिटी का आर्गेनिक ट्रैफिक लाने के लिए सही तरीके से SEO करना बहुत ही जरुरी होता है। 

एस.इ.ओ. कितने प्रकार के होते हैं? (Types Of SEO In Hindi)

सभी लोगों में यही प्रश्न रहता है कि SEO क्या है (SEO Kya Hai) और यह कितने प्रकार का होता है। मुख्य रूप से SEO दो प्रकार के होते हैं तथा इन दोनों प्रकार के SEO का काम बिल्कुल अलग-अलग होता है। आईए इसके बारे में विस्तार से जानते हैं :

  1. ऑन पेज एस.इ.ओ. (On Page SEO)
  2. ऑफ पेज एस.इ.ओ. (Off Page SEO)  

⏩ 1. On Page SEO क्या है? (What Is On Page SEO In Hindi)

On Page SEO Kya Hai: ऑन पेज एस.इ.ओ. के अंतर्गत हम जो भी ऑप्टिमाइजेशन अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट को SEO Friendly बनाने के लिए करते हैं, उसे ही हम ऑन पेज ऑप्टिमाइजेशन कहते हैं। जैसे कि : वेबसाइट की डिज़ाइन, Title Tag, Meta Description, High Quality Content तथा जरुरी कीवर्ड्स आदि बहुत सारी चीजें हैं, जोकि On Page SEO के अंतर्गत आती हैं। 

आईये अब हम विस्तार से ऑन पेज एस.इ.ओ. के अंतर्गत आने वाली Techniques के बारे में विस्तार से जानते हैं :
  1. Website Design
  2. Website Navigation
  3. Website Favicon
  4. Mobile-Friendly Website
  5. Website Speed
  6. Content 
  7. Keyword Density
  8. Title Tag
  9. Meta Description
  10. Heading
  11. Image Alt Tag
  12. Post URL
  13. Internal Linking 
  14. External Linking
  15. Robots.txt 


⏩ 2. Off Page SEO क्या है? (What Is Off Page SEO In Hindi)

Off Page SEO Kya Hai: इस Off Page SEO Technique के अंतर्गत हम कोई ऑप्टिमाइजेशन अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर न करके किसी दूसरी वेबसाइट पर करते हैं। जिसे हम अपने ब्लॉग का Promotion भी कह सकते हैं। इसमें हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट की लिंक किसी दूसरे वेबसाइट जोकि हमारे ब्लॉग से रिलेटेड हो उस पर डालते हैं। इसे बैकलिंक बनाना भी कहते हैं। 

शुरुआत में जब हमारा ब्लॉग सर्च इंजन में रैंक नहीं करता है, तो बैकलिंक्स शुरू में हमारे ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर ट्रैफिक भेजने का भी काम करती हैं। 

आईये हम Off Page SEO की कुछ बहुत ही महत्वपूर्ण Techniques के बारे में विस्तार से जानते हैं, जोकि आपके ब्लॉग के लिए काफी उपयोगी साबित हो सकती हैं। 
  1. Profile Creation 
  2. Social Bookmarking
  3. Web 2.0 Submission
  4. Micro Blogging 
  5. Business Listing 
  6. Classifieds Submission
  7. Forum Submission
  8. Question And Answer Submission 
  9. Search Engine Submission
  10. Blog Directory Submission
  11. Blog Commenting 
  12. Guest Posting 
  13. Article Submission


SEO के फायदे (Benefits Of SEO In Hindi)

जब हम अपने ब्लॉग अथवा वेबसाइट का अच्छे से SEO करते हैं, तो इससे हमें बहुत सारे फायदे मिलते हैं। अधिकतर समय देखा गया है कि ज्यादातर यूजर Top 5 रिजल्ट्स पर ही ज्यादा क्लिक करते हैं। बहुत ही कम टाइम ऐसा होता है कि उसे दूसरे अथवा तीसरे पेज पर जाये। 

इसीलिए यदि आप SEO के सभी नियमों को अच्छे से Follow करते हैं, तो आपको बहुत से फायदे मिलते हैं। जोकि निम्नलिखित हैं : 

👉  Search Engine Optimization (SEO) से वेबसाइट अथवा ब्लॉग की रैंकिंग बढ़ती है। 
👉 इससे हमारे ब्लॉग अथवा वेबसाइट पर High Quality का Organic ट्रैफिक बढ़ता है। 
👉 हम जितना ही SEO Optimized Content लिखते हैं, उससे Users को पढ़ने में आसानी होती है। 
👉 अच्छी SEO प्रैक्टिस से सर्च इंजन के क्रॉलर्स को भी हमारे वेबसाइट के कंटेंट को समझने में आसानी होती है।
👉 यदि आप अपने Competitor से आगे निकलना चाहते हैं और उसका और तुम्हारा Niche एक ही है, तो आप अच्छी SEO प्रैक्टिस से उसे भी पीछे कर सकते हैं।   

👉 क्या आप जानना चाहते हैं कि ब्लॉग्गिंग से पैसे कैसे कमाएं ?

निष्कर्ष : इस आर्टिकल में हमनें SEO क्या है (What Is SEO In Hindi) और SEO कैसे करते हैं। इससे Related सभी पॉइंट्स के बारे में विस्तार से जाना। हमें आशा है कि आपको इसे पढ़कर काफी कुछ जानने को मिला होगा। 

यदि आपको इसमें कोई कमी नजर आती है, तो आप हमें कमेंट करके जरुर बताएं। 

🙏 धन्यवाद 🙏  
सबसे ज्यादा रैम वाला मोबाइल (Sabse Jyada RAM Wala Mobile)

सबसे ज्यादा रैम वाला मोबाइल (Sabse Jyada RAM Wala Mobile)

आप सभी का मेरे ब्लॉग पर बहुत-बहुत स्वागत है। इस आर्टिकल में हम सैमसंग के सबसे ज्यादा रैम वाले मोबाइल (Sabse Jyada RAM Wala Mobile) के बारे में विस्तार से जानेंगे। यदि आप विस्तार से जानना चाहते हैं, तो इस लेख को पूरा जरुर पढ़ें। 

Sabse Jyada RAM Wala Mobile
Sabse Jyada RAM Wala Mobile

आज के समय में मोबाइल गेम्स का चलन बहुत तेज़ हो गया है। बहुत सारी गेम डेवलपमेंट कम्पनियाँ इस गेमिंग  इंडस्ट्री से पैसे कमा रही हैं। इसीलिए गेम्स को अच्छे से बिना किसी प्रॉब्लम के खेलने के लिए ज्यादा रैम की आवश्यकता होती है। इन्हीं कुछ बातों को ध्यान में रखते हुए सैमसंग ने अपना एक स्मार्टफोन भारत की बाजार में उतारा है। जिसका नाम SAMSUNG Galaxy S21 Ultra (Phantom Black, 512 GB) है। यह स्मार्टफोन Phantom Black Color के साथ आता है। 

कंपनी नें इस मॉडल के फ़ोन को 12GB RAM तथा 16GB RAM के साथ बाजार में उतारा है। इसे आप ऑनलाइन फ्लिपकार्ट अथवा अमेज़न से ऑनलाइन आर्डर कर सकते हैं। 

जैसे-जैसे बाजार में स्मार्टफोन निर्माता कंपनियों में Competition बढ़ रहा है। सभी कम्पनियाँ अपने सबसे बेहतर प्रोडक्ट्स को बाजार में उतार रही हैं। जिससे की बाजार में उनकी पकड़ बनी रहे। 

सैमसंग कंपनी का सबसे ज्यादा रैम वाला मोबाइल फोन (Sabse Jyada RAM Wala Mobile Phone)

इस स्मार्टफोन को खरीदने से पहले आप इसके फीचर्स को जरुर पढ़ें। इस स्मार्टफोन की मुख्य विशेषतायें नीचे दी गयी हैं, जोकि निम्नलिखित हैं :

SAMSUNG Galaxy S21 Ultra (Phantom Black, 512 GB)
Price 1,16,999 रुपये
Model No. SM-G998BZKHINU
Display 17.27 cm (6.8 inch)
Resolution Quad HD+, 3200 x 1440 Pixels
Color Phantom Black
RAM 16 GB /12 GB
Internal Memory 512 GB / 256 GB
Sim Type Dual Nano Sim
Operating System Android 10
Processor 2.9 GHz, Exynos 2100, Octa Core
Primary Camera 108MP + 12MP + 10MP + 10MP
Secondary Camera 40MP
Camera Lens Primary Camera Lens
Flash Rear Camera LED Flash
Video Recording Full HD 8K Recording
Network 5G, 4G VOLTE, 4G, 3G, 2G
Battery 5000 mAh Non Removal Battery
Weight 228 ग्राम
एक साल स्मार्टफोन की वारंटी तथा छः महीने स्मार्टफोन के साथ मिले सभी Accessories पर वारंटी

Conclusion : इस आर्टिकल में हमनें सैमसंग के सबसे ज्यादा रैम वाले मोबाइल फोन (Sabse Jyada RAM Wala Mobile) के बारे में विस्तार से जाना। यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो, तो आप हमें अपनी राय जरुर दें। परन्तु यदि आपको इस आर्टिकल से सम्बंधित कोई सुझाव देना चाहते हों, तो आप हमें कमेंट जरुर करें। 
Safe Mode Kya Hai & Safe Mode On/Off Kaise Kare ?

Safe Mode Kya Hai & Safe Mode On/Off Kaise Kare ?

Safe Mode सभी प्रकार के Smartphones में मौजूद एक बहुत ही बेहतरीन फीचर है। यदि कभी अनजाने में आपके फोन में सेफ मोड ऑन हो जाने से परेशान हो जाते हैं तो अब आपको परेशान होने की कोई जरुरत नहीं है। आज के इस लेख में हम सेफ मोड क्या है (Safe Mode Kya Hai) तथा सेफ मोड ऑफ कैसे करें (Safe Mode Off Kaise Kare)? इसके साथ ही हम सेफ मोड के फायदे तथा नुकसान के बारे में भी जानेंगे।


Safe Mode Kya Hota Hai
Safe Mode Kya Hota Hai

अतः यदि आप इसके बारे में विस्तार से जानकारी चाहते हैं, तो आप इस आर्टिकल को ध्यान से पूरा जरुर पढ़ें। 


सेफ मोड क्या है (Safe Mode Kya Hai)?

सेफ मोड एक बहुत ही बेहतरीन फीचर है, जोकि सभी प्रकार के Smartphones में मौजूद होता है। इसके ऑन होने से आपके फ़ोन के बैकग्राउंड में चल रही सभी प्रकार की Apps काम करना बन्द कर देती हैं। यदि आपके फ़ोन में किसी भी प्रकार की Third Party Apps इनस्टॉल हैं तो वह काम नहीं करती हैं। यह आपके फ़ोन को सभी प्रकार के Virus से भी बचाता है। इसके ON होने से आपका फोन हैंग भी नहीं करता तथा फोन के बैटरी की खपत भी कम हो जाती है। सेफ मोड आपके मोड के सॉफ्टवेयर को क्रैश होने से भी बचाता है। 


सेफ मोड ऑन कैसे करें (Safe Mode ON Kaise Kare)

पहला तरीका 

👉सबसे पहले आप अपने फोन के Power Button को दबाकर रखें। 

👉 इसके बाद आप नीचे चित्र में दिखाये गए Power Off के Option को कुछ समय तक दबाये रखें। 


Safe Mode Kya Hota Hai | Safe Mode On\Off Kaise Kare
Safe Mode On Kaise Kare


👉 इसके बाद आपके सामने Reboot Safe Mode की नई Window नजर आएगी अब आप Ok पर क्लिक करें। 


Safe Mode Kya Hota Hai | Safe Mode On/Off Kaise Kare
Safe Mode On Kaise Kare


👉 इसके बाद आपका फ़ोन Restart होने लग जाएगा। इसके कुछ समय बाद आपके फोन में Safe Mode On हो जायेगा। जैसा कि आप चित्र में देख सकते हैं।


Safe Mode Kya Hota Hai | Safe Mode On/Off Kaise Kare
Safe Mode On Kaise Kare 


 दूसरा तरीका 

👉 सबसे पहले आप अपने फोन को Switch Off कर लें। 

👉 जब आपका फोन Switch Off हो जाये, तो आप अपने फोन के Power Button के साथ Volume Down वाली बटन को एक साथ दबायें। 

👉 इसके कुछ समय बाद जैसे ही आपका फोन ऑन होगा, आपके फोन का सेफ मोड भी ऑन हो जायेगा। 


तीसरा तरीका 

यदि इन दोनों तरीकों से भी आपके फोन का Safe Mode On नहीं होता है, तो आप अपने फोन का कोई भी ब्राउज़र ओपन करके : [Activate Safe Mode] + कंपनी का नाम तथा फोन का मॉडल नंबर लिखकर सर्च करें। इसके बाद सभी instructions को फॉलो करके सेफ मोड ऑन कर लें।  


सेफ मोड ऑफ कैसे करें (Safe Mode Off Kaise Kare) 


पहला तरीका

Safe Mode को बंद करना काफी आसान है। इसके लिए आप सिर्फ अपने फोन को एक बार Restart कर लें। Restart होने के बाद आपके फोन का Safe Mode बंद हो जायेगा। 


दूसरा तरीका 

👉 यदि आपके फोन को Restart करने के बाद भी आपके फोन का सेफ मोड ऑफ नहीं होता तो आप अपने फोन को Switch Off कर लें।

👉 इसके बाद अपने फोन के Power Button के साथ Volume Down बटन को एक साथ दबाएं। 

👉 इसके बाद जब आपका फोन ऑन होगा तो आपके फोन का Safe Mode Off हो जायेगा। 

 

तीसरा तरीका 


इससे भी आपके फोन का सेफ मोड ऑफ नहीं होता तो आप किसी भी ब्राउज़र में अपने फोन का Model Number लिखकर सर्च करें तथा सभी स्टेप्स को फॉलो करके अपने फोन का सेफ मोड ऑफ कर लें। 


सेफ मोड के फायदे (Safe Mode Ke Fayde)

👉 यदि आपके फ़ोन में सेफ मोड ऑन हो जाता है, तो इससे आपका फ़ोन हैंग नहीं करता है। 
👉 आपके फ़ोन में मौजूद सभी प्रकार के वायरस खत्म हो जाते हैं। 
👉 सेफ मोड के ऑन होने से सभी प्रकार Third Party Apps Deactivate हो जाते हैं। 
👉 सेफ मोड से हमारे फ़ोन की बैटरी लाइफ भी बढ़ जाती है तथा बैटरी ज्यादा समय तक चलती है। 
👉 इसके On होने से आपके फ़ोन की स्पीड भी बढ़ जाती है। 
👉 यदि आपके फोन में सेफ मोड ऑन हो जाता है तो इससे आपके फ़ोन का डाटा भी कम खर्च होता है। 
👉 Safe Mode On करने से हमारे फ़ोन के सॉफ्टवेयर भी Crash नहीं होते हैं। 


सेफ मोड के नुकसान (Safe Mode Ke Nukshan)

यदि आपके फ़ोन में सेफ मोड ऑन हो जाता है, तो इससे सिर्फ एक ही नुकसान है। यदि आप अपने फोन में किसी भी प्रकार की Third Party App का प्रयोग करते हैं तो आप उसका प्रयोग नहीं कर पायेंगे। इसके अतिरिक्त आपको इससे कोई भी नुकसान नहीं होगा।  


इस लेख में हमनें सेफ मोड क्या है (Safe Mode Kya Hai) तथा सेफ मोड ऑफ कैसे करें (Safe Mode Off Kaise Kare), इसके बारे में हमनें विस्तार जाना। यदि आपको मेरा यह लेख पसंद आया हो, तो आप हमें कमेंट करके अपनी राय जरुर दें।  

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode | जिओ फ़ोन का लॉक कैसे तोड़ा जाता है?

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode | जिओ फ़ोन का लॉक कैसे तोड़ा जाता है?

जिओ फ़ोन का लॉक कैसे तोड़ें (Jio Phone Ka Lock Kaise Tode)

आप सभी पाठकों का मेरे ब्लॉग praveshkumarithub पर स्वागत है। आज के इस आर्टिकल में हम जिओ फ़ोन का लॉक कैसे तोड़ें (Jio Phone Ka Lock Kaise Tode) इससे सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारियों के बारे में विस्तार से जानेंगे। यदि आप जानना चाहते हैं कि जिओ फ़ोन का लॉक कैसे तोड़ा जाता है (Jio Phone Ka Lock Kaise Toda Jata Hai) तो कृपया इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से जरूर पढ़ें। 


Jio Phone Ka Lock Kaise Tode
Jio Phone Ka Lock Kaise Tode 


अक्सर हम सभी लोग अपने फ़ोन में पासवर्ड लगाकर भूल जाते हैं। जिस वजह से हम दुबारा अपने फोन को खोल नहीं पाते हैं। इन्हीं कुछ कारणों से हमें अपने जिओ फोन का पासवर्ड तोड़ना पड़ता है। क्योंकि बिना पासवर्ड तोड़े हम अपने फोन को इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। 


यदि हम इसका लॉक तोड़वाने के लिए किसी मोबाइल शॉप अथवा किसी जिओ केयर के सेंटर पर जाते हैं तो हमें इसके लिए कुछ पैसे देने पड़ते हैं। यदि हम इसके लॉक को खुद ही तोड़ लें तो हमें न ही कहीं जाना पड़ेगा और न ही किसी को कोई पैसा देना पड़ेगा। 


इन्हीं कुछ बातों को ध्यान में रखते हुए मैंने जिओ फोन का लॉक कैसे टूटेगा (Jio Phone Ka Lock Kaise Tutega) इसके बारे विस्तार से आर्टिकल लिखा है जिसे आप पूरा ध्यान से जरुर पढ़ें। इसमें आप जिओ फोन का लॉक तोड़ने के बारे में अच्छे से जान पाएंगे।  


सावधानियाँ 


जिओ फ़ोन का लॉक तोड़ने से पहले आप नीचे दी गयी कुछ सावधानियों को जरूर पढ़ें, जोकि निम्नलिखित हैं :

  1. 👉 यदि आप जिओ फ़ोन का लॉक तोडना (Jio Phone Ka Lock Todna) चाहते है तो इससे पहले आप सुनिश्चित कर लें कि आपका जिओ फ़ोन कम से कम (50-60)% चार्ज होना चाहिए। 
  2. 👉आपको अपने जिस जिओ फ़ोन का लॉक तोडना है (Jio Phone Ka Lock Todna Hai) उस मोबाइल का सिम कार्ड तथा मेमोरी कार्ड निकाल लें। इससे आपके फ़ोन में मौजूद सभी फोन नंबर तथा मेमोरी में मौजूद Audio, Video तथा Images डिलीट नहीं होंगी। 

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode 

यदि आप जानना चाहते हैं कि जिओ फोन का लॉक कैसे तोड़ा जाता है (Jio Phone Ka Lock Kaise Toda Jata Hai) तो नीचे दिए गए सभी Steps को ध्यान पढ़ें और Follow जरुर करें। 


👉 1. अपने जिओ फ़ोन का लॉक तोड़ने से पहले आप अपने फोन को Switch Off कर लें। 

👉 2. फोन को Switch Off करने के बाद बैटरी को निकाल कर, अपने Sim Card तथा Memory Card को निकाल लें। 

👉 3. इसके बाद अब आप सिर्फ अपनी बैटरी को ही फोन में लगाएं। 

👉 4. अब Battry को फोन में लगाने के पश्चात आप अपने जिओ फोन के लाल बटन के साथ स्टार बटन (Red Button + *) को एक साथ दबाएं तथा कुछ समय तक दबाए रखें। 

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode
Jio Phone Ka Lock Kaise Tode 

👉 5. इसके कुछ समय बाद जब आपका फोन ऑन होगा तो उसमें Wipe Data / Factory Reset का Option दिखाई देगा, अब आप उस पर Click करें। कर्सर को ऊपर और नीचे ले जाने के लिए लाल रंग वाली Button को दबाएं। 

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode
Jio Phone Ka Lock Kaise Tode 

👉 6. Wipe Data / Factory Reset के Option पर क्लिक करने के बाद आपको Yes अथवा No पर क्लिक करने को पूंछेगा, अब आप Yes पर Click करें। 

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode
Jio Phone Ka Lock Kaise Tode 

 👉 7. Yes के बटन पर क्लिक करने के बाद, अब आप Reboot System Now पर क्लिक करें। इसके बाद आपके जिओ फोन का सारा डाटा डिलीट होना शुरू हो जाएगा। अब फोन रिसेट होने के कुछ समय बाद आपका जिओ फोन पुनः Start हो जायेगा। 

Jio Phone Ka Lock Kaise Tode
Jio Phone Ka Lock Kaise Tode 

👉 8. अब आपके जिओ फ़ोन का लॉक टूट चुका है। अब आप इसे दुबारा से प्रयोग में ला सकते हैं। यह पूरी तरह से नया जिओ फोन की तरह ही दिखाई देगा। 


अब आप इसमें सभी प्रकार की Setting करके प्रयोग कर सकते हैं।  


नीचे दिए गए कुछ Steps को Follow करके आप इसकी Setting कर सकते हैं। 


👉 1. अब आपका फोन नए जैसा दिखाई दे रहा है, थोड़ी देर इंतजार करें। 



👉 2. अब आप अपनी भाषा Select करके Next पर Click करें। 



👉 3. अब आप Allow पर Click करें। 



👉 4. इसके बाद अब आप Accept पर Click करें। 



👉 5. अब आप Proceed पर Click करें। 



👉 6. पुनः Proceed पर Click करें। 



👉 7. अब आप Cancel पर Click करें। 



👉 8. इसके बाद अब आप फिर से Proceed पर Click करें। 



👉 9. अब आप Next पर Click कर। 



👉 10. फिर से Next पर Click करें। 



👉 11. फिर से Next पर Click करें। 



👉 12. फिर से Next पर Click करें। 



👉 13. फिर से Next पर Click करें। 



👉 14. फिर से Next पर Click करें। 



👉 15. इसके बाद अब आप Proceed पर Click करें। 



👉 16. अब आप Next पर Click करें। 



👉 17. अब आपके Jio Phone की सारी Setting पूरी हो चुकी है। अब आप इसे प्रयोग कर सकते हैं। 




Note : इस लेख में मैंने Jio Phone के F320B Model में जिओ फोन का लॉक कैसे तोड़ा जाता है (Jio Phone Ka Lock Kaise Toda Jata Hai) इसके बारे में बताया है। यदि आपका कोई दूसरा Model Number है और यह Steps काम नहीं कर रहे हैं तो आप अपने Jio Phone के लाल बटन के साथ फोन की Up Key को एक साथ दबाकर देख लें।   


👉 यदि आप घर बैठे ऑनलाइन पैसा कमाना चाहते हैं तो Blogging Se Paisa Kaise Kamaye पर क्लिक करके इस लेख को जरुर पढ़ें। 


निष्कर्ष : मै आशा करता हूँ कि इस लेख में आपको जिओ फोन का लॉक कैसे तोड़ें (Jio Phone Ka Lock Kaise Tode) इसके बारे में पूरी जानकारी मिली होगी। यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप हमें अपनी राय जरुर दें। 

गूगल से बात करने वाला ऐप्प (Google Se Baat Karne Wala App)

गूगल से बात करने वाला ऐप्प (Google Se Baat Karne Wala App)

गूगल से बात करने वाला ऐप्प कौन सा है? (Google Se Baat Karne Wala App)

क्या आप जानना चाहते हैं कि Google Se Baat Karne Wala App कौन सा है और इसे आप कैसे डाउनलोड कर सकते हैं। तो इस लेख में हम विस्तार से जानेंगे। 

Google Se Baat Karne Wala App
Google Se Baat Karne Wala App

आज के समय में हमारे देश की ज्यादातर जनसंख्या इंटरनेट का प्रयोग करने लगी है। जिसमें अधिकतर ग्रामीण लोग जोकि कम पढ़े लिखे हैं वे भी इंटरनेट का प्रयोग करने लगे हैं। जिससे वे भी इंटरनेट से किसी भी प्रकार की जानकारी बड़ी ही आसानी से प्राप्त कर सकते हैं। इसमें सबसे अच्छी बात ये है कि जिन लोगों को लिखना अथवा पढ़ना नहीं आता वे लोग भी अब इंटरनेट से कुछ भी सीख सकते हैं, जोकि बहुत ही उपयोगी है।

अभी के समय में लगभग सभी प्रकार की Mobile Apps में Voice Search मतलब कि बोलकर ढूढ़ने का ऑप्शन पाया जाता है। जिसमें आप बिना कुछ भी लिखे अपने सभी प्रकार के प्रश्नों का जवाब प्राप्त कर सकते हैं।

कुछ प्रमुख Apps हैं जिनमें ये Feature पाया जाता है :

YouTube : इसमें आप Voice Search के माध्यम से अपने सभी प्रकार के प्रश्नों का उत्तर प्राप्त कर सकते हैं। 
WhatsApp : इसमें भी आप सिर्फ बोलकर ही बिना कुछ लिखे अपने किसी भी मित्र के साथ चैटिंग कर सकते हैं। 

ठीक इसी प्रकार बहुत सारे Mobile Apps हैं, जिनमें यह फीचर मौजूद होता है। 

इन्हीं कुछ बातों का ध्यान रखते हुए गूगल नें एक App Launch किया है जिसकी मदद से आप सिर्फ बोलकर ही अप ने सभी प्रकार के प्रश्नों का जबाब प्राप्त कर सकते हैं। जिसका नाम है Google Assistant यह एक प्रकार के Virtual Assistant की तरह ही काम करता है। इसको Artificial Intelligence के द्वारा बनाया गया है।  

यह गूगल का ही अपना Google Assistant App है, इसीलिए यह Android Operating System के सभी Smartphones में पहले से ही इनस्टॉल रहता है।

यदि यह आपके स्मार्टफोन में यह App पहले मौजूद नहीं है तो आप इसे गूगल प्ले स्टोर में फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं, जिसके लिए आपको कोई भी पैसा देने की जरुरत नहीं है। 

इसे डाउनलोड करने के लिए आपको निम्नलिखित कुछ Steps को Follow करना पड़ेगा :

1. सबसे पहले अपने स्मार्टफोन का इंटरनेट ओपन कर लें। 
2. इसके बाद गूगल प्ले स्टोर ओपन कर लें। 
3 गूगल प्ले स्टोर ओपन करने के बाद ऊपर सर्च आइकॉन पर क्लिक करके Google Assistant टाइप करें। 
4. आपको जो भी पहला App दिखता है उसे Install कर लें। 

अब आप इसे आसानी से प्रयोग कर सकते हैं। 

क्या आप घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाना चाहते हैं ?

👉यदि हाँ, तो आप 👉 How To Earn Money Online With Google In Hindi 👈 पर क्लिक करके घर बैठे ऑनलाइन पैसे कमाने के बारे में जान सकते हैं। यदि आप इस आर्टिकल को पूरा विस्तार से पढ़ते हैं, तो मै आपसे वादा करता हूँ कि आप कुछ समय थोड़ी मेहनत करके घर बैठे पैसे कमा सकते हैं।  


निष्कर्ष: इस आर्टिकल में हमनें गूगल से बात करने वाले एप्प (Google Se Baat Karne Wala App) के बारे में विस्तार से जाना। यदि आपको मेरा यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप मुझे अपना प्यारा सा Comment लिखकर Motivate कर सकते हैं।  

Signal Private Messenger App Kya Hai?

Signal Private Messenger App Kya Hai?

Signal Private Messenger App क्या है?

WhatsApp अपने यूजर को नयी डेटा पॉलिसी के लिए समझौता करने को बाध्य कर रहा है। जिसके अंतर्गत व्हाट्सएप users को अपना Personal Data साझा करने के लिए Agree करना पड़ेगा और Users इसे Agree नहीं करते हैं तो 8 फरवरी से कोई भी व्यक्ति WhatsApp का प्रयोग नहीं कर सकेगा। 


Signal Private Messenger App Kya Hai
Signal Private Messenger App Kya Hai


WhatsApp Messenger App को लगभग 5,000,000,000+ से भी ज्यादा लोगों ने गूगल प्ले स्टोर से इसे डाउनलोड किया हुआ है। 


अब इसकी नयी Policy इनके पुराने Users को इसके Alternative App जैसे कि Telegram और Signal Private Messenger App पर बहुत तेजी से भाग रहे हैं। 


अभी जल्दी ही Signal Private Messenger App लगभग 10,000,000+ से ज्यादा Downloads हो चुके हैं। 


इन्ही कुछ बातो को देखते हुए इस दुनिया के सबसे अमीर इंसान और टेस्ला कम्पनी के CEO Elon Musk (एलोन मस्क) ने भी ट्विटर पर Signal Private Messenger App को भी Promote कर दिया है। 


जिस कारण से Signal App को Apple और Google Play Store पर पिछले कुछ ही दिनों में लाखों लोगो ने डाउनलोड करके इनस्टॉल कर लिया है। 


अब यह App WhatsApp को पीछे छोड़कर पहले स्थान पर पहुंच चुका है। 


Signal Private Messenger App को प्रयोग क्यों करें?


  • Signal Private Messenger App को दुनिया का सबसे सुरक्षित एप्प माना जाता है। इस App में User's के डेटा को  Share होनें का कोई भी खतरा नहीं है। यह User's के किसी भी प्रकार के Personal जानकारियों को माँगता नहीं है, जोकि इस समय WhatsApp कर रहा है। 
  • इस App में आपके Chat वाले Backup Data को क्लाउड सर्वर पर Store न करके आपके ही डिवाइस में Save किया जाता है। 
  • इस App में Data Linked To You का कोई भी Feature मौजूद नहीं है। जिससे कि यह आपके फोन का स्क्रीनशॉट नहीं ले सकता है। 
  • इस App  बढ़िया Feature यह है कि आपके सभी पुराने चैट खुद ही डिलीट हो जाते हैं। 
  • जिस प्रकार WhatsApp आपको कोई भी किसी भी ग्रुप में Add कर लेता है, इसमें सबसे पहले Invite करना पड़ता है। जिसके बाद ही कोई आपको किसी भी ग्रुप में जोड़ सकता है। 
  • इस App में रिले कॉल्स का भी फीचर  मौजूद है। जोकि आपके IP Address को Secure करता है। 
  • इस मोबाइल एप्प को आप पिन के द्वारा Lock भी कर सकते हैं। जिससे कोई भी दूसरा व्यक्ति इसका प्रयोग न कर पाए। 


(सिग्नल प्राइवेट मैसेंजर एप्प क्या है)Signal Private Messenger App Kya Hai? 

 यह एक बहुत ही प्रसिद्ध मैसेंजर एप्प है, जिसको आप iPhone, Android, iPad, Windows, Mac और Linux जैसे सभी ऑपरेटिंग सिस्टम पर इस्तेमाल कर सकते हैं। मार्केट में मौजूद सभी मेसेजिंग एप्प की तरह ही इस एप्प में भी आप Messages, Photos,Videos और Links भेज और Receive कर सकते हैं। इसके साथ ही आप इसमें Audio और Video Call भी कर सकते हैं। 

इस App में आप Group Video Call भी कर सकते हैं। इसमें आप एक समय में 150 लोगों के साथ वीडियो कॉल कर सकते हैं। 

Signal मेसेसिंग App को किसनें बनाया है?


इस App को Signal फ़ॉउंडेशन And Signal Messenger नें तैयार किया है। यह एक प्रकार की गैर मुनाफा वाली कंपनी है। 

इसे अमेरिका की Cryptographer और वर्तमान में Signal Messenger के सीईओ (CEO) मोक्सी मर्लिनस्पाइक ने बनाया है। 

इस फाउंडेशन को WhatsApp के Co-Founder ब्रायन एक्टन तथा मर्लिनस्पाइक ने मिलकर बनाया था। एक्टन ने WhatsApp को 2017 में छोड़ा था। 

" इस आर्टिकल में हमनें Signal Private Messenger App Kya Hota Hai इसके बारे में विस्तार से जाना। 
Incognito Mode Meaning In Hindi

Incognito Mode Meaning In Hindi

Incognito मोड क्या है (Incognito Mode Kya Hai)

आप सभी पाठकों का मेरे ब्लॉग PRAVESHKUMARITHUB पर स्वागत है। आज के इस पोस्ट में हम Incognito Mode Kya Hai इसके बारे में विस्तार से जानेंगे। यदि आपको यह ब्लॉग पसंद आये तो हमें कमेंट करके अवश्य बताएं। 


Incognito Mode Meaning In Hindi
Incognito Mode Meaning In Hindi


इसे भी पढ़ें :

 

जैसा कि हम लोग जानते हैं कि यदि हम इंटरनेट पर कुछ भी देखते या पढ़ते हैं तो वह हम तक ही सीमित नहीं है, बल्कि हमारी सभी प्रकार की Activities को Track किया जाता है। 


उदाहरण के लिए, 


आपने कभी सोंचा है कि जब हम किसी ई-कॉमर्स वेबसाइटों जैसे कि फ्लिपकार्ट, अमेज़न और स्नैपडील को ओपन करके किसी भी प्रोडक्ट को देखते हैं और उसके बाद जब आप किसी ब्लॉग या सोशल मीडिया साइट्स पर विजिट करते हैं तो आपको उन्हीं प्रोडक्ट्स से संबंधित कुछ विज्ञापन (Ads) दिखाई देते हैं, जिन्हें आपने ई-कॉमर्स वेबसाइटों पर देखा था। 


आपने कभी सोंचा कि आपने जिस प्रोडक्ट को किसी दूसरे ऑनलाइन साइट पर देखा था वो आपको किसी दूसरे ऑनलाइन साइट पर कैसे दिख रहा है। इसका सीधा मतलब है कि आप जो भी कुछ इंटरनेट पर देखते या पढ़ते हैं, उन्हें Cache फाइल के रूप में एक सर्वर पर संग्रहित किया जाता है। 


इन्हीं कुछ बातों को ध्यान में रखते हुए, सभी ब्राउज़र कंपनियों, जैसे - गूगल Chrome, Mozilla Firefox, Opera आदि नें एक Incognito Browser Mode तैयार किया है। जिसे यदि आप ओपन करके इंटरनेट पर कुछ भी सर्च करते हैं तो आपकी ब्राउज़िंग जानकारियाँ सेव नहीं की जाती हैं। 


Incognito Browser Kya Hai (Incognito ब्राउज़र क्या है)?

जब आप किसी भी ब्राउज़र पर Privacy Mode या Private Window या Incognito Mode को Open करके कुछ भी ब्राउज़िंग करते हैं तो ब्राउज़र आपकी Browsing History और वेबसाइट के Cache फाइल के स्टोरेज को Disable कर देता है। 

 जिस कारण जब भी आप Incognito Browsing Mode को बंद करते हैं तो आपकी history और Cache फाइल डिलीट हो जाती है और आपकी Browsing Information कहीं भी शेयर नहीं की जा सकती है। 

इसे ही हम Incognito Mode या Private Window कहते हैं।  

Incognito Mode किस Browser में मिलता है?

इस प्रकार के Private Browser की शुरुआत गूगल कम्पनी नें सबसे पहले 2008 में Chrome ब्राउज़र के लिए Launch किया था। इसके बाद ही सभी ब्राउज़र कंपनियों ने इसे Launch कर दिया। 

इस समय हम लगभग सभी प्रकार के प्रसिद्ध ब्राउज़रों में इस Private Browser का प्रयोग कर सकते हैं। 

आइये जानते हैं हम किन ब्राउज़रों में Incognito Private Mode का प्रयोग कर सकते हैं :

Incognito Mode In Google Chrome Browser

गूगल Chrome ब्राउज़र में incognito mode या private window खोलना काफी आसान है। इसे Open करने के लिए Right Side में तीन डॉट्स पर क्लिक करके New Incognito Tab पर क्लिक करके simply Open कर सकते हैं। 

यदि आप इसे लैपटॉप या डेस्कटॉप में खोलना चाहते हैं तो आप (Ctrl + Shift + N) Press करके ओपन कर सकते हैं। 

Incognito Mode In Mozilla Browser 

यदि आप Mozilla Firefox Browser में Private Window अथवा Private Mode ओपन करना चाहते हैं तो आप दायें कोने पर Menu को Open करके New Private Window पर क्लिक करके Private Mode Access कर सकते हैं। 

यदि आप Private Mode लैपटॉप या डेस्कटॉप में खोलना चाहते हैं तो आप (Ctrl + Shift +P) Button Press करके ओपन का सकते हैं। 

Incognito Mode In Apple Safari Browser 

यदि आप Mac अथवा iPhone का प्रयोग करते हैं। जिसमें  यदि आप Safari Browser का प्रयोग करके incognito mode को enable करना चाहते हैं तो इसके लिए आप Safari Menu पर जाकर File के Option पर क्लिक करें। इसके बाद अब आप New Private Window पर क्लिक करके इसे ओपन कर लें। 

Incognito Mode In Microsoft Edge 

इस समय Windows 10 में हमें Internet Explorer Browser के स्थान पर Microsoft Edge Browser मिलता है। इसमें  Private Mode Enable करने के लिए तीन डॉट्स पर Click करें। इसके बाद More Action पर जाएं और New In Private Window पर क्लिक करके Private Browsing Access कर सकते हैं।   

यदि आप इसे किसी लैपटॉप अथवा डेस्कटॉप में ओपन करना चाहते हैं तो आप (Ctrl + Shift + N) बटन Press करके Open कर सकते हैं। 
Google Task Mate App Kya Hai | गूगल टास्क मेट ऐप्प क्या है ? (Beta Version)

Google Task Mate App Kya Hai | गूगल टास्क मेट ऐप्प क्या है ? (Beta Version)

गूगल टास्क मेट ऐप्प क्या है (Google Task Mate App Kya Hai)?



आप सभी PRAVESHKUMARITHUB ब्लॉग के पाठकों का स्वागत है। आज के इस पोस्ट में हम Google Task Mate App In Hindi के बारे में विस्तार से जानेंगे। 


इसे भी पढ़ें :


जैसा कि आप लोग जानते हैं कि गूगल ने अपना एक नया app लॉन्च कर दिया है, जिसका नाम है Google Task Mate App, जैसा कि कंपनी ने अभी इसका बीटा वर्शन ही लॉन्च किया है। जिसमें गूगल अभी इस App की Testing कर रहा है। इस आप की मदद से आप लोग कुछ टास्क को पूरा करके पैसे बना सकते हैं। इसमें कुछ simple task होंगे जैसे कि photo click करना, Map खोलना, अनुवाद करना से रिलेटेड बहुत सरे छोटे-छोटे task होंगे, जिसे पूरा करने के बाद आपको पैसे मिलेंगे। 


Google Task Mate App Kya Hai
Google Task Mate App Kya Hai


आपको इस आप में जो भी Task मिलेंगे, उसे आप अपने Android Phone में पूरा करके Submit कर सकेंगे। जैसे ही आप उस Task को Complete करेंगे, कंपनी आपको तुरन्त पेमेंट कर देगी। 


प्रत्येक Task जो भी आप पूरा करेंगे अथवा पूरा करना चाहेंगे, गूगल आपको उसी के हिसाब से पैसे देगा। ठीक इसी प्रकार से Google Task Mate App काम करेंगा। 


जैसा कि हमनें ऊपर बात करी है कि कम्पनी ने इसका Beta Version ही launch किया है। जिसका मतलब है कि Company अभी इस आप को Test कर रही है, जैसे ही इस App की Testing पूरी हो जाती है। कंपनी इसे Publically Launch कर देगी।         

Google Task Mate App Invitation Code OR Referral Code 


Google Task Mate App को गूगल प्ले स्टोर पर Launch कर दिया गया है। जिसे आप आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं। जैसे ही आप इस App को डाउनलोड करते हैं इसके बाद आपको Sign Up करना होगा। जिसके लिए आपको Google Task Invitation Code या Referral Code की आवश्यकता होगी। 

बिना किसी Referral Code के आप इस App में अपना Account नहीं बना सकते हैं। 

Note : 
  1. गूगल ने अभी इस App का Beta Version ही Launch किया है। अतः इसे अभी तक Public नहीं किया गया है। 
  2. बहुत सारे लोग इस App का Invitation Code अथवा Referral Code देनें के लिए बेवकूफ भी बना सकते हैं। 

अतः मै आप लोगों सलाह दूँगा कि आप अभी इन Scammers के चक्कर में न पड़े। जैसे ही इसे Publically Launch कर दिया जायेगा। मै आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देता रहूँगा। 

टास्क मेट एप्प प्रयोग कैसे करें (Google Task Mate App Use Kaise Kare)  

इस App को प्रयोग करने के लिए आपको कुछ Steps को Follow करना होगा। 

 सबसे पहले स्टेप में आप Find Task Nearby सर्च करना है। इसके बाद आप अपना टास्क पूरा करेंगे। Task पूरा करने के बाद आपकी पेमेंट कैश आउट हो जाएगी। 

इसमें आप दो तरह के Task पूरा कर सकते हैं। जैसे :
  1. घर पर रहकर  
  2. कही बाहर जाकर  
इन टास्क को पूरा करने के बाद आप देख पाएंगे कि कौन सा टास्क सही से पूरा हुआ है और कौन सा टास्क अभी रिव्यु में है। 

इसके बाद आपका Task पूरा होने के बाद आपको payment कर दिया जायेगा। आप इस Payment को अपने बैंक अकाउंट अथवा अपने इ-वॉलेट में ट्रांसफर करवा सकते हैं। 

यदि आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें। साथ ही यदि कोई सुझाव हो तो आप मुझे Comment करके जरूर बताएं।